EMI full form in hindi (EMI full form)

EMI full form|What is the Full form of EMI?-  

EMI full form-  आज हम इस ब्लॉग में जानेंगे कि emi  क्या है EMI full form क्या होता है emi का लाभ क्या है और नुकसान क्या है तथा emi का प्रयोग कैसे किया जाता है और कहां से लिया जाता है इन सभी सवालों का जवाब  इस पोस्ट में जानेंगे | यदि आप EMI full form नहीं जानते हैं या emi full form mining नहीं जानते हैं तो तो इस लेख को अंतिम तक जरूर पढ़ें | इस लेख के माध्यम से आपका सभी डॉट क्लियर हो जाएगा तो चली आगे बढ़ते हैं और देखते हैं कि emi full form विस्तार से दोस्तों हम सब जब भी कुछ खरीदते हैं तो उसके 2 तरीके होते हैं समान खरीदने के पहला नगद दे कर खरीदना और दूसरा EMI पर खरीदना |

अक्सर हम लोग जब भी कुछ खरीदते हैं तो देखते हैं की  उसका दूसरा ऑप्शन दिया रहता है कि आप इसे emi  पर भी खरीद सकते हैं| आखिर यह emi क्या होता है? और emi full form क्या होता के बारे में विस्तार से इस पोस्ट में हम जानेंगे|

 What is the full form of emi? | emi full form

Emi full form in English -Equated Monthly Installment

Emi full form in Hindi –समान मासिक किस्त

what is emi

ईएमआई का फुल फॉर्म इक्वेटेड मंथली इंस्टालमेंट है। ईएमआई एक निश्चित समय के लिए एक उधारकर्ता द्वारा हर महीने की एक विशेष तिथि पर एक साहूकार को एक निश्चित राशि का भूकतान करना है। समान बोलचाल की भाषा में कहे तो ब्याज पर ब्याज पर कोई वस्तु खरीदना ही emi कहलाता है |

सरल भाषा में बोले तो emi एक प्रकार की मासिक किस्त है जिसे हर महीने चुकाना होता है | ईएमआई में एक मूलधन और ब्याज की राशि शामिल होती है, जिसे कर्जदार द्वारा एक निश्चित अवधि के लिए चुकाने के लिए लिया जाता है ताकि ऋण को पूरी तरह से चुकाया जा सके। इसलिए, यह ब्याज दर और मूलधन का असमान मिश्रण है। जिसे आपको bank या फिर जिससे उधार लिए हो उसे चुकाना पड़ता है |

Emi जो किसी भी bank या financial Institutions से लिए गए Loan को चुकाने के लिए bank आपको किस्त के रूप में वापस करने के लिए सुविधा देती है जिसे emi के तौर पर चुकाना होता है |

 EMI में शामिल कारक

ईएमआई में कई कारकों पर निर्भर करती है, जिनमें शामिल हैं

ब्याज दर  -Interest rate

उधार ली गई मूल राशि

वार्षिक या मासिक समय अवधि

ऋण की अवधि

ऋण राशि उधार ली गई राशि है या इसे मूल राशि के रूप में भी संदर्भित किया जाता है, और ऋण की अवधि या अवधि ऋणदाता के लिए ब्याज सहित पूरे ऋण को चुकाने का समय है। ऋणदाता, उदाहरण के लिए, बैंक ब्याज दर लेता है।

ईएमआई के लाभ – Benefits of EMI |emi full form

ईएमआई व्यक्तियों को किश्तों में भुगतान करने की अनुमति देता है

जिससे आप कोई भी समान आसानी से बिना पूरा payment किए बिना खरीद सकते है और बाकी रुपये किस्त के रूप में जमा कर सकते है |जो उनके मौद्रिक नियंत्रण से बाहर खरीदारी करने में मदद करती है।

कोई मध्यस्थ नहीं है और व्यक्ति बिना किसी परेशानी के किसी मध्यस्थ से संपर्क किए बिना सीधे ऋणदाता (यानि Bank) को ईएमआई का भुगतान करते हैं।

ईएमआई बचत को प्रभावित नहीं करती है क्योंकि उन्हें एकमुश्त के बजाय न्यूनतम मासिक भुगतान करने की आवश्यकता होती है।

एक समान मासिक किस्त (ईएमआई) कैसे काम करता है

ईएमआई परिवर्तनीय भुगतान योजनाओं से भिन्न होती है,

जिसमें उधारकर्ता अपने विवेक पर अधिक राशि का भुगतान करने में सक्षम होता है।

emi योजनाओं में उधारकर्ताओं को आमतौर पर हर महीने एक निश्चित date को राशि जमा करने की अनुमति दी जाती है।

उधारकर्ताओं के लिए emi का लाभ यह है कि वे ठीक से जानते हैं कि उन्हें हर महीने अपने ऋण के लिए कितना पैसा चुकाना होगा, जिससे व्यक्तिगत बजट आसान हो सकता है। उधारदाताओं (या निवेशकों को ऋण बेचा जाता है) को लाभ यह है कि वे ऋण ब्याज से एक स्थिर, अनुमानित आय धारा पर भरोसा कर सकते हैं।

ईएमआई की गणना या तो फ्लैट-रेट पद्धति या कम करने-बैलेंस (अक्स द रिड्यूस-बैलेंस) पद्धति का उपयोग करके की जा सकती है।

Emi फ्लैट-रेट फॉर्मूला की गणना मूल ऋण राशि और मूलधन पर ब्याज को एक साथ जोड़कर और परिणाम को महीनों की संख्या से गुणा करके अवधियों की संख्या से विभाजित करके की जाती है।

EMI लेने के समय ध्यान देने वाली बातें

यदि आप emi पर सामान खरीदते हैं तो उसके फायदे के साथ-साथ कुछ नुकसान भी है

जिसे आपको मालूम होना चाहिए आइए हम आपको बताते हैं इसके नुकसान क्या है जिसे हमें ध्यान रखना चाहिए|

अक्सर लोग emi पर सामान खरीद के समय emi पर ध्यान नहीं देते हैं

और महंगा समान खरीद लेते हैं जिस वजह से उसे EMI भरने में परेशानी होने लगती हैं

समय पर किस्त नहीं छुपाने से आपको टैक्स भी देना पड़ता है

सामान खरीद के समय EMI पॉलिसी को ध्यान से पढ़ना चाहिए|

Emi पॉलिसी का टैक्स कितना है उसे ध्यान देना चाहिए |

Emi करने के तरीके क्या है ?

यदि आप emi पर सामान खरीदना चाहते हैं तो आपको पता करना होगा वह सामान कहां emi पर मिल रहा है और कौन सी दुकान दे रहा है वहां जाकर आप उस दुकानदार से emi पर सामान खरीद सकते हैंया फिर onlineभी उपलवध रहता है वहाँ से भी खरीद सकते है | उसके बदले में दुकानदार आपसे बैंक का पासबुक चेक आधार कार्ड ये सभी डॉक्यूमेंट लेकर दुकानदार आपका emi प्रक्रिया पूरा कर आपको सामान दे देंगे|

Emi का payment कैसे करें

यह सवाल अक्सर लोगों के मन में आता है कि आखिर emi का पेमेंट कैसे करें तो घबराने की कोई बात नहीं है यहां पूरा डिटेल्स है बताया जा रहा है कि emi पेमेंट कैसे करें|Emi payment करने के लिए आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं है जब आप emi पर सामान खरीदे थे उस समय आपसे आधार कार्ड और पासबुक लिया गया था उसी समय आपका emi प्रक्रिया पूरा कर एक निश्चित डेट फिक्स किया जाता है

उस तारीख में आपके बैंक अकाउंट से ईएमआई का बैलेंस काट लिया जाता है| यदि किसी वजह से आपके बैंक अकाउंट में पर्याप्त बैलेंस नहीं हैउस तारीख में तो आपको emi पेनल्टी के साथ अगले तारीख से ले लिया जाता है यदि समय पर emi नहीं payment हुआ तो आपका सामान भी वापस ले लिया जाता है|इसलिए ईएमआई पर सामान खरीदते के बाद दिये date में अपने अकाउंट में पर्याप्त बैलेंस जरूर रखें ताकि emi समय पर काट लिया जाए और आपको किसी प्रकार की परेशानी नहीं झेलना पड़े |

ईएमआई की गणना कैसे करें How to calculate

ईएमआई की गणना तीन कारकों पर निर्भर करती है जो इस प्रकार हैं:

ब्याज दर: साहूकार द्वारा वसूल की जाने वाली ब्याज दर, ।

ऋण राशि (मूल ऋण): उधार ली गई राशि।

ऋण की अवधि: ऋणदाता द्वारा ब्याज सहित संपूर्ण ऋण चुकाने के लिए प्रदान किया गया समय।

फ्लैट ब्याज दर:

ब्याज की गणना पूरे मूलधन पर इस तथ्य पर विचार किए बिना की जाती है कि प्रत्येक ईएमआई के साथ मूल राशि कम हो रही है। उदाहरण के लिए, एक व्यक्ति एक कार खरीदना चाहता है और 22 jun 2021 एक फ्लैट ब्याज दर 12% पर 6 लाख का कार ऋण लेता है और इसे 4  साल में चुकाना पड़ता है तो ईएमआई की गणना नीचे दी गई है:

मूल राशि: 600,000

ब्याज की फ्लैट दर: 12%

कुल अवधि: 4 वर्ष

ईएमआई: मूल राशि (600,000) को 48 महीने + मूल राशि के 12% को 12 महीने से विभाजित करने पर =

Total calculate

EMI 15,800  total interest 158,414

Total Amount ( principal + Interest) 7,58,414

EMI End Date – May 22 ,2025

ब्याज की फ्लैट दर आमतौर पर कार ऋण और दोपहिया ऋण जैसे अल्पकालिक ऋणों पर लागू होती है।

IMPS full form

NEFT full form

RTGS FULL FORM

समान मासिक किस्त (EMI) अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

Q  ईएमआई का क्या मतलब है? emi full form kya hai

Ans- वित्त जगत में, ईएमआई का मतलब समान मासिक किस्त है।

यह एक निर्धारित समय सीमा के भीतर एक बकाया ऋण का निपटान करने के लिए किए गए आवधिक भुगतान को संदर्भित करता है।

जैसा कि नाम से पता चलता है, ये भुगतान हर बार एक ही राशि के होते हैं।

Q.  ईएमआई की गणना कैसे की जाती है?

Ans-   ईएमआई कैलकुलेट करने के दो तरीके हैं: फ्लैट-रेट मेथड और रिड्यूसिंग-बैलेंस (या रिड्यूस-बैलेंस) मेथड।

दोनों अपनी गणना में ऋण मूलधन, ऋण ब्याज दर और ऋण की अवधि को ध्यान में रखते हैं।

Q.   क्रेडिट कार्ड से ईएमआई कैसे कटती है?

Ans-  जैसे ही आप ईएमआई विकल्प के साथ क्रेडिट कार्ड पर कुछ खरीदते हैं (अर्थात, हर महीने पूरे भुगतान की मांग नहीं करता है),

आपके कार्ड की उपलब्ध क्रेडिट सीमा सामान या सेवा की कुल लागत से कम हो जाती है।

क्रेडिट कार्ड पर ईएमआई तब होम लोन या पर्सनल लोन की तरह काम करती है

आप हर महीने मूलधन और ब्याज का भुगतान करते हैं,

धीरे-धीरे समय के साथ अपने कर्ज को कम करते हैं जब तक कि आप इसे पूरी तरह से चुका नहीं देते।

कम-बैलेंस पद्धति का उपयोग करके क्रेडिट कार्ड से ईएमआई काट ली जाती है।

ईएमआई अच्छी है या खराब?

ईएमआई न तो स्वाभाविक रूप से अच्छी है और न ही खराब-जब तक कि आप उधार लेना और ऋण अर्जित करना बुरा नहीं मानते हैं,

और चीजों के लिए पूरी तरह से भुगतान करना एकमात्र “अच्छा” विकल्प है।

उधार लेने के विकल्पों के संदर्भ में, ईएमआई के अपने अच्छे बिंदु हैं, हालांकि।

क्योंकि यह हर महीने एक ही निश्चित भुगतान में ऋण को विभाजित करता है|

यह उधारकर्ताओं को उनके वित्त का बजट बनाने और उनके बकाया दायित्वों को ध्यान में रखने में मदद करता है।

वे जानते हैं कि उन्हें कितना भुगतान करना है, और उन्हें अपना पूरा कर्ज चुकाने में कितना समय लगेगा।

आशा करता हूं कि इस पोस्ट के माध्यम से आपको emi full form बारे में विस्तार से जानकारी मिल गई होगी और emi का क्या फायदा  और नुकसान तथा emi कैसे किया जाता है इन सभी सवालों का जवाब विस्तार से इस पोस्ट में आपको मिल गया होगा अगर यह पोस्ट आपके नॉलेज को बढ़ाने में काम आया हो तो कृपया इस पोस्ट को अपने दोस्तों के बीच शेयर कर शेयर कर हमें सहयोग दें और यदि कोई सुझाव हो इस पोस्ट के बारे में या कोई प्रश्न हो emi के बारे में तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर पूछें

 Prev                                                                                                                                                                                        Next

  emi इतिहास

Spread the love

Leave a Comment

Translate »
%d bloggers like this: